छत्तीसगढ़राज्य

डोंगरगांव में तीन दिवसीय लोक मड़ई एवं कृषि मेला का कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने किया शुभारंभ

रायपुर
कृषि और जलसंसाधन मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ने विगत दिवस डोंगरगांव के जनसेवा मैदान में तीन दिवसीय लोक मड़ई और कृषि मेला 2020 का शुभारंभ किया।

समारोह के मुख्य अतिथि कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि प्रदेश में श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद किसानों में नया आत्मविश्वास जागृत हुआ है।  सरकार बनते ही किसानों का कर्जा माफ, बिजली बिल हाफ, 25 सौ रुपये प्रति क्विंटल धान की कीमत, धान बोनस के वितरण से किसानों के आत्मसम्मान में वृद्धि हुई है और उनका आत्मविश्वास बढ़ा है। जिस दिन मुख्यमंत्री श्री भूपेश के नेतृत्व में सरकार बनी उसी दिन से किसानों और जनता को महसूस हुआ कि अब उनका राज आया है। श्री चौबे ने  कहा कि किसानों की सोच के अनुरूप हमारी सरकार कार्य करती है। खेती-किसानी और किसानों की बेहतरी के लिए प्रदेश ने नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजना शुरू की है। यह योजना किसानों की तकदीर बदलेगी।

श्री चौबे ने कहा कि खेतों की सिंचाई में जल संसाधन का बेहतर से बेहतर उपयोग करने व्यापक कार्य योजना बनाई गई है। प्रदेश में पशुधन के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए लगभग 5 हजार गौठान विकसित किए जा रहे हैं। गांवों के आस-पास बहने वाले नदी-नालों को पुनर्जीवित कर भू-जल का स्तर बढ़ाया जाएगा। प्रदेश में कृषि का विकास करना हमारी सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि खेती पर आधारित रोजगार को बढ़ावा देने से ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। छत्तीसगढ़ के गांव, गरीब और किसान खुशहाल हो यही हमारी सरकार की सोच है।

श्री चौबे ने कहा कि मुख्यमंत्री की गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ की सोच के अनुरूप छत्तीसगढ़ को खुशहाली की ओर सतत अग्रसर करना है। कृषि मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की सरकार ने छत्तीसगढ़ के पारंपरिक तीज-त्यौहारों को विशेष महत्व देते हुए जनमानस को नये उत्साह के साथ तीज-त्यौहार मनाने नई पहल की है।

कृषि मंत्री ने कहा कि छोटे स्वरूप में मड़ई शुरू करने वाले विधायक श्री दलेश्वर साहू एक सजग जनप्रतिनिधि के साथ छत्तीसगढ़ी कला-संस्कृति के संरक्षक भी हैं। कला-संस्कृति के प्रति उनके रूझान के कारण छोटी सी मड़ई आज लोक मड़ई के रूप में भव्य रूप ले चुकी है।

श्री चौबे ने कृषि मेले के स्टॉलों का अवलोकन किया। लोक मड़ई में स्कूल और कॉलेज के बच्चों ने आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।

Related Articles

Close