मध्य प्रदेशराज्य

प्रेमचंद गुड्‌डू को आयोग ने थमाया नोटिस,48 घंटे में जवाब मांगा

इंदौर
 मध्य प्रदेश की सांवेर विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी प्रेमचंद गुड्‌डु के खिलाफ गुरुवार को चुनाव आयोग ने सख्ती दिखाते हुये उन्हें नोटिस थमाया है। यह नोटिस गुड्‌डू की ओर से 15 अक्टूबर को सांवेर की सभा में इंदौर, उज्जैन, रतलाम और भोपाल के कलेक्टर्स को अपशब्द कहे जाने को लेकर दिया गया है। चुनाव आयोग ने इस मामले में कांग्रेस प्रत्याशी से 48 घंटे में जवाब मांगा है। दो वर्ष पूर्व कांग्रेस से नाराज होकर बीजेपी में चले गए थे और अब एक बार फिर कांग्रेस ज्वॉइन करके चुनावी मैदान में उतरे गुड्‌डू के लिए मतदान से 5 दिन पहले इस चुनाव आयोग ने मुसीबत बढ़ा दी है। बीजेपी प्रत्याशी तुलसीराम सिलावट से चुनावी जंग और चुनाव प्रचार के अंतिम दौर में उन्हें अब आयोग के नोटिस का जवाब समय रहते देना होगा।

सांवेर से कांग्रेस प्रत्याशी जब 15 अक्टूबर को नामांकन दाखिल करने गये थे तब कांग्रेस ने बड़ी रैली का आयोजन किया था। इस दौरान सांवरे के बाजार चौक में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रेमचंद गुड्‌डू ने जिला कलेक्टरों को अपशब्द कहे थे। इस रैली में सज्जन सिंह वर्मा और जीतू पटवारी समेत कांग्रेस के कई बड़े नेता शामिल हुये थे।

इसी दौरान गुड्‌डू की ओर से जिला कलेक्टरों को टांगने जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया था। कलेक्टरों को इस तरह की भाषा का इस्तेमाल और डराने-धमकाने के लहजे को लेकर बीजेपी ने चुनाव आयोग को शिकायत की थी। इस शिकायत के बाद अब चुनाव आयोग ने नोटिस जारी किया है। इस नोटिस का जवाब 48 घंटे में देना होगा।

आयोग ने भाषण को आपत्तिजन और आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन भी माना है। यदि समय रहते नोटिस का जवाब नहीं दिया जाता है तो कांग्रेस प्रत्याशी के खिलाफकार्रवाई भी की जा सकती है।

इससे पहले कांग्रेस और बीजेपी के दो अन्य नेताओं को भी अपशब्दों का इस्तेमाल और गलत भाषा के चलते नोटिस जारी हो चुके हैं। सज्जन सिंह वर्मा को इसी सभा में कैलाश विजयवर्गीय के लिये पकौड़े जैसी नाक और रावण जैसा चेहरा बताने वाले बयान पर और बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय को दिग्विजय सिंह और कमलनाथ को चुन्नु-मुन्नू कहने को लेकर आयोग नोटिस थमा चुका है।

Tags

Related Articles

Close