भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने रचा इतिहास, गोल्ड मेडल के लिए ऑस्ट्रेलिया से हाेगी भिड़ंत

 नई दिल्ली
 
कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में पहली बार महिला क्रिकेट को शामिल किया गया और भारतीय टीम ने इतिहास रच दिया। कॉमनवेल्थ गेम्स के फाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बन गई है। रोमांचक मैच में भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने मेजबान इंग्लैंड को 4 रन से हराकर फाइनल में प्रवेश किया। इसी के साथ टीम इंडिया ने एक पदक भी पक्का कर लिया है, जहां टीम गोल्ड या कम से कम सिल्वर मेडल अपने नाम करेगी।

फाइनल में अब भारतीय टीम का सामना ऑस्ट्रेलिया से होगा, जिसने एक अन्य सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड को पांच विकेट से मात देकर खिताबी मुकाबले में अपनी जगह बनाई। वहीं, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच ब्रॉन्ज मेडज मुकाबला खेला जाएगा। ब्राॅन्ज और गोल्ड मेडल के मुकाबले रविवार को ही खेले जाएंगे।

बर्मिंघम में खेले गए पहले सेमीफाइनल मैच में भारतीय महिला टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 164 रन बनाए थे, जिसमें स्मृति मंधाना की तूफानी 61 रन की पारी और जेमिमा रॉड्रिग्स की 44 रन की दमदार पारी शामिल थी। इसके बाद जब मेजबान टीम 165 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी तो टीम को अच्छी शुरुआत मिली। यहां तक कि आखिरी के कुछ ओवरों में भी इंग्लैंड की टीम जीतती हुई नजर आ रही थी।
 
हालांकि, भारतीय टीम ने अच्छी फील्डिंग की और कुछ रन आउट के मौके भुनाए। यही कारण रहा कि इंग्लैंड की टीम 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 160 रन बना सकी और मुकाबला 4 रन से हार गई। इंग्लैंड की टीम के लिए कप्तान नताली स्कीवर ने 41 रन और डेनियल व्याट ने 35 रन बनाए। 19 रन की पारी सोफिया डंकली ने खेली। भारत की तरफ से 2 विकेट स्नेह राणा को मिले, जबकि एक सफलता दीप्ति शर्मा को मिली।

भारत के लिए अच्छी बात ये रही कि जब-जब टीम को विकेट की तलाश थी तो रन आउट के रूप में इंग्लैंड का विकेट गिरा। 6 में से 3 विकेट रन आउट के तौर पर गिरे। यही इंग्लैंड की हार का सबसे बड़ा अंतर रहा। अब भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल की विजेता टीम से फाइनल में भिड़ना होगा, जबकि इंग्लैंड की टीम दूसरे सेमीफाइनल की उपविजेता टीम से कांस्य पदक के लिए भिड़ेगी।  

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *