गुजरात कांग्रेस को लगा झटका, दो बड़े नेताओं ने थामा भाजपा का दामन

अहमदाबाद
गुजरात कांग्रेस को उस समय झटका लगा जब उसके वरिष्ठ नेता नारायण राठवा और उनके बेटे संग्राम राठवा समर्थकों के एक समूह के साथ भाजपा में शामिल हो गए। नारायण राठवा का राज्यसभा कार्यकाल अप्रैल में पूरा हो रहा है।

गुजरात भाजपा प्रमुख सीआर पाटिल ने पार्टी मुख्यालय में राठवा के अलावा अन्य को भगवा स्कार्फ और टोपी देकर पार्टी में उनका स्‍वागत किया। भाजपा में शामिल होने वाले नारायण राठवा पांच बार सासंद रह चुके हैं। उनका राज्यसभा का कार्यकाल अप्रैल में खत्‍म होने वाला है। नारायण राठवा 2004 में छोटा उदयपुर लोकसभा सीट से जीते थे। इस सीट से ही वह लगातार पांच बार सांसद रहे हैं। राठवा 2004 में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार में रेल राज्य मंत्री भी रह चुके हैं।

वहीं, राठवा के बेटे संग्राम सिंह ने 2022 के गुजरात विधानसभा चुनाव में छोटा उदयपुर सीट से कांग्रेस उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ा था, मगर वह यह सीट निकाल नहीं पाए थे। वरिष्ठ नेता नारायण राठवा के साथ 10,500 कार्यकर्ता भी बीजेपी में शामिल हुए हैं। भाजपा में राठवा के शामिल होने के बाद ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि पार्टी उन्‍हें लोकसभा चुनाव में उतार सकती है। राठवा की लोकसभा सीट रह चुकी छोटा उदयपुर पर फिलहाल भाजपा का कब्‍जा है।