नकवी ने कहा- एक जननायक की ताकत को अनेक खलनायकों की आफत’ भी कमजोर नहीं कर सकती

अररिया
भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) ने मंगलवार को कहा कि ‘एक जननायक की ताकत को अनेक खलनायकों की आफत' भी कमजोर नहीं कर सकती। नकवी ने आज बिहार के अररिया में नकवी ने भाजपा की जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘समावेशी काम की गिनती ने कुनबे का सियासी गणित बिगाड़' दिया है।

नकवी ने कहा कि मोदी जी ने ‘तुष्टीकरण के सियासी छल को सशक्तिकरण के समावेशी बल' से ध्वस्त कर समावेशी विकास, सर्वस्पर्शी सशक्तिकरण की प्राथमिकता से विकास और विश्वास का पुख़्ता माहौल तथा वैश्विक स्तर पर भारत की धाक-धमक को मजबूत किया। नकवी ने कहा कि ‘मुस्लिम समुदाय का भी भाजपा हराओ रिवाज, मोदी जिताओ मिजाज' में बदल गया है। उन्हें एहसास है कि ‘जब मोदी ने विकास में कमीं नहीं की तो उन्हें वोटों में कन्जूसी क्यों करें?' यही बदलाव ‘वोटों के साम्प्रदायिक ठेकेदारों की ठसक की सियासी कसक का कारण है।' नकवी ने कांग्रेस नेतृत्व वाले गठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि ‘कांग्रेस का गोदी गैंग गुनाहों के गटर पर गठबंधन का शटर' लगा ‘बेईमानी के बाहुबलियों का बसेरा' बन गया है।

नकवी ने कहा कि कांग्रेस के गोदी गिरोह में ‘खानदान अनेक पर ख्वाहिशें एक' हर सामन्ती सूरमां सत्ता की सूबेदारी के सपने देख रहा है,‘‘बिना जमीन के जमींदारी, बिना जनाधार के जागीरदारी की जंग' में जुटा है, सपनों की सत्ता का सामन्ती संग्राम ‘मुंगेरी अनेक -सपने एक' से कम नहीं है। नकवी ने कहा कि चुनाव रिजल्ट से पहले ही कांग्रेस और उसके गोदी गैंग द्वारा ईवीएम पर हार के हथौड़े का रिहर्सल शुरू हो गया है, देश के भरोसे पर भय-भ्रम का भंवरजाल बिछाने की साजिशों का ताना-बाना बिना जाने लगा है। उन्होंने कहा कि यह वही साजिशी सिन्डीकेट है जो लगातार देश की संसद, संविधान, लोकतंत्र और भारतीय संस्कार, संकल्प एवं संस्कृति को बदनाम करने की बेहूदा बकवास बहादुरी में लगा रहा।